19 July, 2010

पुलिस प्रशासन पैसा लेकर मनमानी से लोगो पर केस बनाकर डरा धमका कर गरीब जनता से पैसा वसूल रहा है,

कटनी. प्रेमबाई की हत्या के संदेह में  संतोष सिंह पिता जहान सिंह निवासी खम्हरिया थाना शाहनगर को रीठी पुलिस ने पूछताछ के लिए थाने बुलाया. अगली सुबह आरोपी के परिजन रीठी थाने पहुच कर हंगामा करने लगे.

घटना दो जुलाई की है जब ग्राम डांग,  तहसील रीठी जिला कटनी  निवासी ब्रजलाल पटेल की बीस वर्षीय पुत्री प्रेम बाई की हत्या हो गई थी. लाश खेत में संदेहास्पद अवस्था में मिली थी.

विरोध करने वाले नारा लगा रहे थे - रीठी पुलिस रिश्वतखोर  है, टी आई चोर है.

लेकिन पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रेमबाई तथा संतोष सिंह एक ही पत्थर की खदान  में काम करते थे. तथा वह अक्सर इसके घर आता जाता था. हत्या की रात संतोष प्रेमबाई के घर गया था उसकी छोटी बहन जो सात वर्ष की है ने पुलिस को बताया की   संतोष अक्सर प्रेमबाई के घर आता था और कभी कभी समोसा जलेबी भी लाता था,
गाँव वालो ने भी यह बात स्वीकार की है और बताया की संतोष प्रेमबाई को अक्सर कपडे खरीद कर देता  था. लोगो ने यह भी बताया की पिछले दो बरसो में संतोष ने प्रेम बाई की  कई बार शादी तुडवाने का प्रयास भी किया था.

जबकि संतोष के परिजन उसे निर्दोष मानते  है और इसे रीठी पुलिस की इकतरफ़ा कार्यवाही कहते है,  इसीलिये सभी खम्हरिया के ग्रामवासी पुलिस का विरोध करने थाने में एकत्रित हुए थे.

ग्रामीणों का कहना थे की रीठी में पदस्थ टी आई तथा पुलिस प्रशासन इस समय जमकर पैसा लेकर मनमानी  से लोगो पर केस बनाकर डरा धमका कर  गरीब जनता से पैसा वसूल रहा है,