14 July, 2010

सरकारी स्चूलो के विद्यार्धी हुए भिखमंगे

मध्यान्ह भोजन की योजना ने सरकारी विद्यालयों में पढने वाले बच्चों को भिखरी बना दिया. मध्य प्रदेश में शिक्षा विभाग में चल रही मिड डे मील योजना में समूह द्वारा चलाये जा रहे इस भोजन के कार्यक्रम की एक झलक तस्वीरों में प्रस्तुत है.
पिछले दिनों कटनी जिले एवं पन्ना जिले के विभिन्न स्क्लूँ   में चल रही मध्यान भोजन की योजना किस प्रकार अधिकारीयों कर्मचारियों की कमीशनबाजी के चलते दम तोड़ रही है उसकी एक झलक तस्वीरों के माध्यम से -

इस भोजन व्यस्था में बच्चे आपको भिखारी ही दिख रहे होने. न तो कहीं भोजन मंत्र बोला जाता है.

कहीं पर भी बिछायत नहीं मिली,

 थाली, गिलास में नहीं परोसा जाता है
हाँथ भी नहीं धुले जाते हैं.

मेनू के अनुसार भोजन नहीं पकाया जाता

अभी भी ऐओदीन विहीन खड़ा नमक का उपयोग हो रहा है

सी ई ओ, बी आर सी कोई देख रेख नहीं कर रहे हैं.

महीने में उनका कमीशन पंहुचा दिया जाता है.

किसी ने कहा है- जो भी आता बेईमान, राम भरोसे hindustaan
सारे नियमों को धता बताते हुए खुले आम बच्चों के निवाले पर डाका डाला जा रहा है


जरा तो शर्मा kahao