09 August, 2010

चैक फर्जी हस्ताक्षर द्वारा आहरित

पन्ना. स्वास्थ्य विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार ने शासन की जनहितैषी  योजनाओ में इस कदा  सैध  लगाई है की इसमें ऊपर से लेकर नीचे तक कार्यरत कर्मचारी कैसे पैसा आए इसी जुगाड़ में लगे रहेते है पन्ना जिले में कानून व्यस्था नाम की कोई भी बात नजर नहीं आती. यहाँ शासन के नियमो का कही भी पालन होता हो ऐसा कतई नहीं दीखता.
जनपद पंचायत शाहनगर पन्ना और कटनी जिले की बार्डर में पड़ता है जिसके चलते यहाँ पन्ना जिले के अधिकारी जब तक पन्ना से चलकर शाहनगर पहुचते है तब तक तो घटना घट के पुरानी हो चुकी होती है.

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  शाहनगर के अंतर्गत प्रसव केंद्र विसानी में पिछले दिनों जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत घर में हुए प्रसव को अस्पताल में दर्शाया गया है. मजे की बात यह है की प्रसव के  तीन महीनो के बाद अस्पताल के रिकार्ड में एंट्री की गयी है.

विसानी स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत शाहपुर खुर्द ग्राम के एक नहीं दो-दो प्रसव को इस प्रकार से तीन महीने बाद दर्ज किया गया है. यहाँ की जननी राजा बाई  तथा रामबाई की तीन माह पूर्व हुए प्रसव को दिनक 04 /06 /2010 में रजिस्टर में पंजी करके सुपरवाइजर प्रकाश आठ्या ने जारी किये है.

जबकि जननी और प्रेरक का कहना है की चैक जारी करने के बाद चैक फर्जी हस्ताक्षर द्वारा आहरित कर लिए गए है.

इसमें प्रकाश आठ्या की भूमिका संदिग्ध है. इस प्रकार और भी कई मामलो में प्रकाश आठ्या ने गड़बड़िया की है, दमोह से अप डाउन  करने वाले इस सुपर्वईसर  को हफ्ते में एक दिन ही अपनी ड्यूटी पर देखा जाता है.

शाहनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इस प्रकार से खुली लूट मची है. कानून नाम की कोई बात यहाँ नजर नहीं आती. अखिकारी कर्मचारी जमकर पैसा लूट रहे है तथा नियम कायदों की धज्जिय खुले आम उड़ाई जा रही है.

-शाहनगर से मदन तिवारी के साथ अखिलेश उपाध्याय