19 August, 2010

अवैध उत्खनन

अखिलेश उपाध्याय

कटनी जिले की रीठी तहसील में भरतपुर जलाशय में चल रहे काम जो डब्लू एस आर पी के माध्यम से बनाया जा रहा है उसमे अवैध उत्खनन द्वारा मेढ़ में मिटटी डलवाई जा  रही है.






इस पूरे काम की देखरेख जल संसाधन विभाग के इंजिनीअर असाटी कर रहे है. असाटी की कार्यशैली से सभी परिचित है उनके काम पर कोई उंगली नहीं उठता और जिसने भी सवाल किया उसको प्रसन्न कर दिया जाता है. शायद कटनी कलेक्टर भी.......?

भरतपुर जलाशय से महज १००० मीटर की दूरी पर ग्राम पंचायत पटेहरा के तालाब से इसे खोदकर पहुचाया जा रह है जिससे दो काम हो रहे है एक तो जलाशय के निर्माण में मुफ्त की  मुरुम और मिटटी मिल रही है तो दूसरी तरफ तालाब का गहरी कारण हो रह है.

बगैर पिटपास के हो रहे अवैध उत्खनन पर प्रशासन की नजर क्यों नहीं......?