12 November, 2010

हरियाली में शिक्षा का घोटाला

कटनी / हरित कोर योजना के तहत स्कूलों के आसपास पढ़-पौधे लगाने के लिए राशी तो मुहैया करा दी गई लेकिन अभी तक कई स्कूलों में इसका क्रियान्वयन नहीं हुआ है. हरियाली के नाम पर जारी हुए लाखो  रूपये से घोटाले  की बू आने लगी है.

पर्यावरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्कूलों में हरियाली की पाठशाला लगाने की योजना है और इसके लिए बाकायदा राशी भी स्कूलों को दी जा चुकी है. लेकिन अभी तक इसका क्रियान्वयन न होने के कारण हरियाली के नाम पर जारी हुए लाखो रूपये से घोटाले की संभावना दिखने लगी है. कटनी जिले के सभी विकासखंडो में स्कूलों का चयन कर हरित कोर योजना (ईको क्लब ) द्वारा स्कूल के आसपास  पेड़  पौधे लगाने के लिए राशी मुहैया कराई गई है लेकिन अभी तक कई जगह इसका क्रियान्वयन नहीं हुआ है.

इस योजना के तहत प्रत्येक स्कूल को 2500 रूपये की राशी आवंटित की गई  है जो जिले के लगभग 250 स्कूलों को ईको क्लब में शामिल किया गया है इस हिसाब से लगभग 06  लाख रूपये शासन ने व्यर्थ ही बहा दिए और विभाग ने मात्र बोर्ड लगा कर अपनी खाना पूर्ति  कर ली.