26 November, 2010

अघोषित कटौती से लोग परेशान


कटनी  /  लगातार हो रही विद्युत् कटौती से रीठीवासी   परेशान है. चौबीस घंटे  में मात्र चार घंटे भी थ्री फेस की बिजली उपलब्द्ध न होने से आटा चक्की, बेल्डिंग मशीन, फोटो कापी, कम्पुटर, स्टूडियो जैसे विद्युत् संचालित यंत्र ठप्प पड़े है. बिजली के अभाव में इलेक्ट्रानिक उपकरण सो पीस बनकर रह गए है,

बिजली के अभाव में नल जल योजना भी ठप्प पड़ी है. गाँव में जल संकट भी गहरा गया है. मजबूरन  महिलाओं को पानी के लिए हेंड पम्पो  का सहारा लेना पड़ रहा है. इन दिनों रवि की फसलो के पलेवा का कार्य चल रहा है लेकिन किसानो को पलेवा के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से विवश होकर  उन्हें डीजल पम्प और जनरेटर लगाकर सोचाई करना पड़ रही है.

एक तरफ किसानो को बिजली देने का दवा किया जा रहा है उनसे अस्थाई कनेक्शन की राशी भी जमा कराई गई है लेकिन सिचाई के लिए  पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही है. आये दिन ट्रांसफार्मर जल जाते है जिससे  कई ग्रामो  में बिजली गुल हो जाती है. शिकायतों का असर विद्युत् वितरण कंपनी के कर्णधारो पर नहीं होता है.