16 November, 2010

पेट्रोल में साल्वेंट मिलाकर बेचा जा रहा

नया चार पहिया फॉर स्ट्रोक  वाहन कुछ माह में धुआ छोड़ने लगे उसमे बार-बार सर्विसिंग कराना पड़ रहा हो तो कंपनी जाकर वाहन दिखने  के बजाय जिस स्थान से आप पेट्रोल भरवा रहे है उसकी बजाय दूसरे स्थान से पेट्रोल भरना  शुरू कर दे. दरअसल मिलावटखोरो ने अब पेट्रोल में भी मिलावट करना प्रारंभ कर दिया है.
कटनी में पहले से ही पेट्रोल पम्प उपभोक्ताओं को पेट्रोल की मात्रा कम दे रहे थे लेकिन अब पम्प संचालक कमाई के चलते पेट्रोल में साल्वेंट मिलाकर उपभोक्ताओं के वाहनों को दो साल में कंडम बना रहे है. गौर करने  बाली बात यह है की पूर्व में पेट्रोल में केरोसिन मिलाने के कई मामले सामने आ चुके है लेकिन हाल में साल्वेंट मिलाये जाने के बाद से पम्पो के मिलावटी कारोबार का खुलासा हुआ है. इस कारोबार में कही न कही खाद्य विभाग की भूमिका भी संदिग्ध नजर आती है. विभाग सूचना  या शिकायत के आधार पर ही पेट्रोल पम्प पर कार्य करता है. जानकारों का कहना  है की
अगर पेट्रोल में साल्वेंट की मात्रा तय मानक से अधिक मिलाई जाती है तो इसका सीधा असर वाहन पर पड़ता है.