14 December, 2010

सड़क के नए नियम

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के एक आदेश के तहत महात्मा गाँधी रोजगार गारंटी योजना में अब सौ फ़ीसदी राशी का उपयोग कर ग्रामीण क्षेत्रो में सीमेंट कंक्रीट रोड का निर्माण नहीं किया जा सकेगा. यह कार्य अब म न रे गा के अलावा अन्य मदों की राशी के सहयोग से ही किया जायेगा.

अब शासन के नये निर्देशों के अनुसार महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी स्कीम की शत-प्रतिशत राशी का उपयोग करते हुए ग्रामीण क्षेत्रो में सीमेंट कंक्रीट रोड का निर्माण नहीं किया जा सकेगा. यदि पूर्व में सी सी रोड के ऐसे कोई कार्य जो सौ फ़ीसदी म न रे गा की राशि  से स्वीकृत है एवं अप्रारम्भ है, उन्हें तत्काल प्रभाव से निरस्त करने के निर्देश अपर मुख्य सचिव  आर परशुराम ने दिए है.

अपने निर्देश में अपर सचिव ने स्पष्ट कहा है की राशी के साथ अन्य मद की राशी के सहयोग से सीसी रोड के मात्र ऐसे कार्य ही स्वीकृत किये जाये जिनमे म न रे गा के कार्यो हेतु प्रावधानित मजदूरी और सामग्री का अनुपात 60 :40 की सीमा के अलावा शेष राशी विधायक निधि या अन्य किसी शासकीय मद से व्यय किया जाना सुनिश्चित होगा.

यह सड़के ग्रामो के आतंरिक मर्ग अथवा 500 मीटर तक की दूरी होने के फलस्वरूप प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में सम्मिलित नहीं किये गए ग्रामो का चयन सी सी रोड हेतु किया जा सकेगा. कार्य का क्रियान्वयन म न  रे गा के प्रावधानों का पालन करते हुए मस्टररोल पद्धति से कराया जायेगा. कार्य में मानव श्रम के बदले मशीनरी  का उपयोग एवं ठेकेदारी प्रथा पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी. अंतिम मस्टररोल के भुगतान के 15 दिनों की सीमा में पूर्णता   प्रमाण पत्र जारी करना अनिवार्य होगा.

मूल्यांकन का कार्य साप्ताहिक आधार पर होगा. इसी तरह भुगतान 15 दिवस की सीमा में होगा. कम्प्रेसिव स्ट्रेंग्थ का प्रयोगशाला परीक्षण होगा. कार्य संपादन के दौरान उपयंत्री को मौके पर उपस्थित रहकर गुणवत्ता पूर्वक   कार्य संपादन करना सुनिश्चित करेगे. समय-समय पर नमूने एकत्रतित कर प्रयोगशाला भी वे ही भिजवायगे. सहायक यंत्री को दिन में एक बार निरीक्षण अनिवार्य होगा. साइड आर्डर बुक में उन्हें टीप भी अंकित करना होगा. भौतिक सत्यापन समिति करेगी.

सडको में क्या खासियत रहेगी
  • अधिक आबादी व पानी के भराव वाले ग्रामो को मिलेगी प्राथमिकता
  • सी सी रोड की चौडाई सामान्य तीन मीटर रखी जाएगी इससे कम नहीं
  • सी सी  रोड के दोनों ओर होगी नालिया, आकार होगा वी शेप
  • प्रत्येक 100 मीटर के अंतराल पर होगा 100 एम् एम् का पाइप
  • सी सी रोड की पूरे 28 दिन करना होगा तराई