09 February, 2011

शौचालय बना नमूना

जनपद पंचायत रीठी के ग्राम रैपुरा में कराये गए निर्माण कार्यो में धांधली के आरोप ग्रामीणों ने लगाये है. बताया गया की समग्र स्वच्छता अभियान के तहत शासकीय माध्यमिक शाला के बगल से बनाये गए सामुदायिक शौचालय के निर्माण के दौरान अनियमितताओं को अंजाम दिया गया है. रैपुरा की स्वच्छता समिति के माध्यम से बनाए गए सामुदायिक  शौचालय की लागत बीस हजार रूपये बताई गई लेकिन वास्तविक हालत पर नजर डाले तो शौचालय निर्माण उससे काफी कम लागत से बना प्रतीत होता है.

गुणवत्ताहीन सामग्री का उपयोग और मनमाने  तौर तरीके से शौचालय का निर्माण कराते हुए महज खाना पूर्ती निभाने के स्पष्ट प्रमाण मिल रहे है. सरकार द्वारा गाँव के विकास  के लिए प्रदान की जाने वाली राशी से विकास करने की बजाय कार्यो की लीपापोती करते हुए जिम्मेदार अमला अपनी जेबे गर्म करने की कवायद में जुट जाता है और यह क्रम जो जारी हुआ है उससे विकास कार्यो में पलीता लगना स्वाभाविक है. समिति अध्यक्ष सुनीता बाई तथा पंचायत  सचिव द्वारा उक्त राशी आहरित  करते हुए उसका बंदरबाट  कर लिया गया और कार्य की ओर गौर करे तो शौचालय बतौर नमूना साबित हो रहा है जिसे देखकर ही निर्माण कार्य के दौरान हुई धाधली उजागर हो रही है.

निर्माण की ड्राइंग के अनुसार इसमें टाइल्स लगनी थी वह भी नहीं  लगाईं गई है. सबसे मजेदार बात जो सामने आयी है वह यह है की शौचालय में लेट्रिन सीट भी उल्टी लगाई गई है जिससे  साफ़ जाहिर होता है की अकुशल श्रमिको से कार्य पूरा कराया गया है. सूत्रों की माने तो इसी ग्राम पंचायत में सामुदायिक भवन का भी निर्माण कराया जा रहा है जिसके लिए सात लाख की शासकीय राशी जारी की गई है.


जहा सामुदायिक शौचालय बनाये जाने के समय अनियमितताओ की ईट लगाईं गई वही अब सामुदायिक भवन के निर्माण की नीव भी भ्रष्टाचार के बल  पर खडी की जा रही है. रीठी जनपद सदस्य बाराती कोल ने जानकारी  में बताया की सामुदायिक भवन के निर्माण में शासकीय  निर्देशों व नियमो की धज्जिया उड़ाते हुए भर्राशाही पूर्वक कार्य कराया जा रहा है. घटिया  सामग्री व गुणवत्ताहीन मशाला उपयोग में लाये जाने के अलावा निर्माण कराये जा रहे भवन में बनने वाले शौचालय में भी ड्राइंग की उपेक्षा की जा रही है और अपने  तरीके से मनमानी पूर्वक भवन निर्माण का कार्य सम्पादित क्या जा रहा है. उपयंत्री  द्वार मौके  पर  मुआयना न करने से ठेकेदार  धांधली को अंजाम दे रहा है. ग्रामीणों के अनुसार शासकीय राशी का दुरूपयोग करने व निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार की शिकायते कई बार सम्बंधित अधिकारियो  से करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई.

इस सम्बन्ध में रीठी जनपद पंचायत अध्यक्ष प्रीति सिंह का कहना है की - जनपद सदस्य बाराती कोई द्वारा जब इस आशय की जानकारी दी गई  और मौके का मुआयना कराया गया तो  शिकायत सही पाई गई है मै इस सम्बन्ध में कलेक्टर  को शिकायत प्रेषित करूगी.