04 March, 2011

परीक्षाये सर पर फिर भी बिजली कटौती ....!

कटनी
 जिले की तहसील मुख्यालयों में बिजली आने जाने का कोई निर्धारिती समय नहीं है.हाई स्कूल एवं हायर सेकेंडरी की परीक्षा के पहले दिन से ही रात्रि में दस बजे से बिजली का गुल हो जाना छात्र-छात्राओं के भविष्य से विद्युत् विभाग खिलवाड़ करने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ रहा है.
जबकि मुख्यमंत्री द्वारा कहा गया था की बोर्ड परीक्षाओं के दौरान बिजली कटौती नहीं की जायेगी. लेकिन मुख्यमंत्री के आदेश को ताक पर रखकर विद्युत् अधिकारियो द्वारा क्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती की जा रही है. विद्युत् अधिकारियो से छात्र छात्राए एवं अभिभावकों ने कटौती बंद करने की मांग की है.  
विद्युत् कटौती के कारण जनता में आक्रोश बढ़ता जा रहा है. एक तरफ जहा विद्युत् कटौती के कारण क्रिकेट  प्रेमी नाराज है वही दूसरी तरफ परीक्षा के दिनों में बिजली नहीं मिलने से छात्र आक्रोशित है. विद्युत् कटौती बंद करने के लिए बिलहारी के नागरिको ने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन अनुविभागीय अधिकारी को  सौपा है  
लोगो का कहना है की क्रिकेट एक लोकप्रिय खेल है. विश्वकप जैसी महत्वपूर्ण प्रतियोगिता के प्रत्येक  मैच का पूरा प्रसारण लोग देखना चाहते है परन्तु मैच के समय ही विद्युत् कटौती किये जाने से क्रिकेट प्रेमी मैच का आनद लेने से वंचित रह जाते है.
वही बडगांव में अघोषित कटौती के कारण लोगो को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. नागरिको ने शीघ्र कटौती बंद करने की मांग की है. इस समय नगर में हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी परीक्षा प्रारंभ हो गई है जिससे छात्र-छात्राओ  को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. 
वही दूसरी तरफ तहसील मुख्यालयों में शासकीय कार्यालयों में कामकाज प्रभावित हो रहे है. क्योकि यहाँ तहसील मुख्यलय रीठी में दोपहर बारह बजे से बिजली जाती है तो शाम सात बजे आती है.
लोगो ने कटौती के समय में परिवर्तन करने की मांग की है. छात्र छात्राओ ने कहा है की रात दस  बजे के बाद से बिजली कटौती की जा रही है जो सुबह पाच बजे तक जारी रहती है. इसी प्रकार दोपहर में भी कटौती होने से पढ़ाई में बाधा उत्पन्न हो रही है. पढ़ाई के महत्वपूर्ण समय में यदि कटौती की जाती है तो यह उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ है.