09 October, 2011

चल समारोह में जमकर बिकी शराब

 चल समारोह में जमकर बिकी शराब
अखिलेश उपाध्याय 
 रीठी का दशहरा क्षेत्र में अपना अलग ही महत्त्व रखता है. वर्षो से चल समारोह देखने तथा रात भर चलने  वाले विभिन्न कार्यक्रमों का आनंद लेने दूर दराज से बड़ी तादाद में लोग पहुचते है. लेकिन पिछले कुछ वर्षो से शराब के बढ़ते प्रचलन ने महिलाओं और वृद्धो के लिए इस समारोह में शामिल होने से वंचित किया है





शनिवार को भी जैसे-जैसे शाम ढलती गई ग्रामीणों के आने का क्रम उसी हिसाब से बढ़ता गया. हजारो की संख्या में एकत्रित  भीड़ दुर्गा  प्रतिमा की झाकिया देखने मोहल्ले-मोहल्ले घूमकर दर्शन लाभ ले रहे थे. इस पूरे कार्यक्रम में  श्रद्धालुओ को परेसानी और किसी से नहीं केवल शराबियो से हो रही थी.


 दशहरे के पर्व पर पिछले वर्ष भी अंगरेजी और देशी दोनों शराब की दुकाने देर रात तक खुली रही  और इस साल भी सारी रात शराब का बिक्रय होता रहा . इस शराबखोरी से महिलाओं और वृद्धो को खासी मुसीबतों का सामना करना पड़ा. झूमते टकराते शराबी पूरे चल समारोह में माहोल को बिगड़ते रहे.


कुछ नागरिको के विरोध के बाद अंगरेजी दूकान 11 .30  पर बंद तो की गई लेकिन चोरी छुपे बिक्री तब भी जरी रही.


मंच से रीठी के सरपंच पुलिस प्रशासन से निवेदन करते रहे की शराब के नशे में अराजकता फ़ैलाने वाले तत्वों को पकड़ा जावे लेकिन पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया अंततः एक शराबी द्वारा अधिक उत्पात होता देख लोगो ने हाथापाई करके उसे वह से हटाया.


विधायक मौन सब देखते रहे 
इस त्यौहार पर विधायक को देख लोगो को बड़ा आश्चर्य हुआ और कुछ लोग तो बोल ही पड़े की चलो आज विधायक ने दर्शन तो दिया  विधायक निशीथ पटेल  शराब दूकान से बीस मीटर दूर  बैठे सारा  तमाशा देखते रहे और वे भी खामोश रहे. वे अपने चमचो को लेकर धीरे से खिसक लिए.  


प्रशासन की उदासीनता के चलते दूर दराज से आये कई ग्रामीणों ने तो अगले बार से घर की बहू बेटियों को इसमें न लाने की कसम खाई. कुछ बुद्धिजीवियों आपस में बाते कर रहे थे की इस पूरे कार्यक्रम में सेक्टर मजिस्ट्रेट की नियुक्ति या तो नहीं की गई थी या अगर की गई तो फिर वे  नदारद थे. इसी तरह पूरे समारोह में स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्राथमिक चिकित्सा के लिए न तो कोई स्टाल लगाया गया था और न ही कोई डाक्टर अपनी ड्यूटी पर तैनात मिला

अंततः रात एक बजे चल समारोह निकलने के बाद से जगह-जगह कार्यक्रम शुरू हुए.