31 October, 2011

मजदूरी का भुगतान भी नहीं कर रहे सरपंच


कटनी. मनरेगा के तहत कराये जा रहे निर्माण कार्य के दौरान घटित एक दुर्घटना में ज मी हुये मजदूर का उपचार कराना तो दूर सरपंच एवं सचिव उसे मजदूरी का भुगतान भी नहीं कर रहे। परेशान मजदूर ने गत दिवस जिला कले टर को लिखित शिकायत सौंपकर उचित उपचार कराने तथा उसकी लंबित मजदूरी का भुगतान कराये जाने की मांग की है। बड़वारा जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत सकरीगढ़ निवासी मजदूर बेड़ी लाल केवट ने कले टर से की गई अपनी शिकायत में बताया है कि वह सकरीगढ़ पंचायत में मनरेगा के तहत कराये जा रहे कार्यों में मजदूरी करता रहा। मु ितधाम एवं कांजी हाऊस में कराये गये कार्यों के अलावा वृक्षारोपण कार्य में भी उसने मजदूरी की थी। बीते 24 सित बर को सरपंच एवं सचिव द्वारा उसे शासकीय मिडिल स्कूल के शौचालय निर्माण कार्य के लिये ले जाया गया था। जहां शौचालय में लगी चीपें निकालने का काम उसे सौंपा गया था। उ त कार्य में सुरक्षा की कमी को दे ाते हुये उसने कार्य करने से इंकार कर दिया था। तब सरपंच एवं सचिव द्वारा उसे मकाकर जबरिया कार्य कराया गया था। कार्य के दौरान जर्जर स्थिति में फंसी एक चीप उसके हाथ में गिर गई थी। जिससे उसका हाथ चर हो गया है। दुर्घटना के बाद उसे पहले स्थानीय लीनिक में डॉ. उपाध्याय के यहां ले जाया गया । बाद में कटनी के निजी अस्पताल में उसका उपचार हुआ जहां उसके हाथ में प्लास्टर चढ़ाया गया है। वर्तमान में वह कार्य करने में असमर्थ है। इधर सरपंच एवं सचिव द्वारा न तो उसे इलाज
का खर्चा दिया जा रहा न ही उसके इ कीस दिन के काम की मजदूरी का भुगतान किया जा रहा। मजदूर बेड़ी लाल केवट ने कले टर से उपचार के दौरान हुए व्यय एवं लंबित मजदूरी का भुगतान शीघ्र कराये जाने की मांग की है