22 October, 2011

बेटी बचाओ अभियान में जिला पीछे

कटनी। जिले की वरिष्ठ महिला
नेत्री श्रीमती पदमा शु ला ने विगत
दिवस कले टर एम.सेल्वेन्द्रन
मु य कार्यपालन अधिकारी जिला
पंचायत श्री शेख, जिला महिला विकास अधिकारी
श्रीमती मंगलेश सिंह, मु य चिकित्सा अधिकारी
श्री चौरसिया से भेंट कर जानना चाहा कि कटनी
जिला बेटी बचाओ अभियान में प्रचार प्रसार में
अन्य जिलों से पीछे यों है। श्रीमती शु ला ने
अधिकारियों को बताया कि वे विगत दिनों
आडवाण्ी की जन चेतना यात्रा के दौरान जबलपुर,
नरसिंहपुर और होशंगाबाद जिले में गई थी वहां
उन्होनें बेटी बचाओ अ िायान के बडे - बडे
प्ले स और पेंट की बढिय़ा बाल पेटिंग का
अवलोकन किया। जबलपुर, गोटेगांव, नरसिंहपुर,
करेली, गाडवारा, पिपरिया, मालनखेड़ा आदि सभी
स्थानों पर जनता को
जागरूक करने बढिय़ा
होर्डिंग और बाल पेटिंग की
गई है परंतु कटनी जिले में
शासकीय तौर पर यह कार्य
अभी तक प्रारंभ ही नहीं
हुआ है। कले टर श्री
सेल्वेन्द्रन ने विभागों से
जानकारी लेकर शीघ्र ही
इस कार्य में गति लाने का
विश्वास दिलाया तथा
श्रीमती श्ुा ला के द्वारा 3 अ टूबर को बेटी
बचाओ अभियान की कार्यशाला कैमोर साइंस
कॉलेज में आयोजित करने पर बधाई दी।
उल्लेखनीय होगा कि जिले में जनप्रतिनिधि श्रीमती
शु ला अपने पैसे से बेटी बचाओ की बाल पेटिंग
विजयराघवगढ़ विधान
सभा क्षेत्र में कराई है तथा
कन्याओं को नवमी के दिन
भोजन भी कराया है तथा
बेटी बचाओ पर एक बड़ी
कार्यशाला का आयोजन
भी किया गया। अन्य
जनप्रतिनिधयों ने नवमीं
के दिन बड़ी सं या में
कन्याओं को भोजन तो
कराया परंतु बाल पेटिंग
हेतु सरकारी अमले पर ही निर्भर रहे। जनसंपर्क
विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कुछ सामग्री
तो आई है परंतु महिला बाल विकास व अन्य
विभागों ने उसे उनके कार्यालय से ले जाने में रूचि
नहीं दिखाई। जबकि महिला बाल विकास और
जनसंपर्क विभाग के कार्यालय कले ट्रेट में
अगल-बगल है। महिला बाल विभाग की
अधिकारी से श्रीमती शु ला ने कार्य योजना पर
जानना चाहा तो उन्होंने बताया कि उनका विभाग
इस योजना की मानीटरिंग करेगा, योजना में जन
प्रतिनिधियों के माध्यम से इसे आगे बढ़ाना है। वे
विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर कार्य
योजना पर बाद में जानकारी देवेंगी। योजना के बारे
में विस्तार से प्रकाश डालने में वे समुचित उ ार
नहीं दे पायी कि इसे कौन संचालित करेगा। कैसे
संचालित करेगा। श्रीमती शु ला ने कले टर व
जनप्रतिनिधियों से विशेष तौर पर महिला जन
प्रतिनिधियों से आग्रह किया है कि मु यमंत्री की
बेटी बचाओ अभियान में जुड़कर वे संतुलित
समाज जिसमें महिला पुरूष बराबर हों, बनाने में
अपनी भूमिका का निर्वाह