03 November, 2011

कटनी . राज्य शिक्षा केन्द्र के निर्देश पर सर्व शिक्षा अभियान के तहत जिले के प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में शौचालयों का निर्माण कराया जाना है। आरएसके ने कटनी जिले में 948 शौचालयों के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की
है। इसमे प्राथमिक विद्यालयों में 639 और माध्यमिक विद्यालयों में 288 शौचालय शामिल है। उधर दूसरी तरफ आरएसके ने
स्वीकृति शौचालयों के निर्माण की प्रगति की जानकारी विभाग की पोर्टल पर दर्ज नहीं करने पर नाराजगी व्य त करते हुए
जिला परियोजना समन्वयक को प्रगति की जानकारी दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में पढऩे वाले छात्रों को खुले में शौच के लिए नहीं जाना पड़े, इसको ध्यान में रखते हुए सर्व शिक्षा अभियान के तहत जिले के प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में शौचालयों का निर्माण कराए जाने की योजना तैयार की गई है। इस योजना के तहत आरएसके से मिलने वाली राशि से प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है। वर्ष
2009 से लेकर अब तक अधिकांश स्कूलों में इन शौचालयों का निर्माण कार्य कराया जा चुका है लेकिन शौचालय निर्माण
की प्रगति की जानकारी एजुकेशन पोर्टल पर अंकित नहीं की जा रही है। जानकारी के अनुसार राज्य शिक्षा केन्द्र के अपर
मिशन संचालक ने जिला परियोजना समन्वयक को भेजे गए पत्र में कहा है कि सर्व शिक्षा अभियान से स्वीकृत शौचालय
निर्माण की प्रगति को पोर्टल पर दर्ज करने के निर्देश दिए गए थे।

इसके अलावा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में भी बार-बार यह निर्देशित किया गया था कि स्वीकृत शौचालय की प्रगति की जानकारी दी जाए लेकिन जिले द्वारा उ त जानकारी नहीं दी जा रही है। बताया जाता है कि वर्ष 2009-10 और वर्ष 2011-2012 में कटनी
जिले में प्राथमिक विद्यालयों में 632 शौचालय निर्माण का लक्ष्य दिया गया था, जिसमे आरएसके के पास एक भी शौचालय के निर्माण की जानकारी नहीं है, जबकि 118 शौचालयों की जानकारी लंबित है। अभी मिली स्वीकृति -डीपीसी इस संबंध में जब जिला परियोजना समन्वयक वीरेन्द्र पाण्डेय से बात की गई तो उनका कहना था कि आरएसके द्वारा जिले में 639 प्राथमिक विद्यालयों और 288 माध्यमिक विद्यालयों में शौचालय निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई है। आरएसके की स्वीकृति मिलने के बाद स्कूलों में जल्द ही यह निर्माण कार्य शुरू होंगे। संभावना है कि दिस बर के पहले इसको पूरा कर लिया जाएगा।