19 October, 2011

ऐ पी ओ ने कराया फर्जी भुगतान

माँ न रे गा योजना कटनी जिले में पूरी तरह से असफल साबित हो रही इस योजना में आयी राशी का सरपंच, सचिव से लेकर कलेक्टर तक गिद्ध द्रस्थी लगाए हडपने के इन्तजार में रहते है.
विगत दिनों ग्राम पंचायत बारहटा  के जसवंत सिंह ने जनसुनवाई में अपने आवेदन में सचिव बिहारी विश्वकर्मा पर निम्न आरोप लगाए -
१ यशवंत सिंग के नाम से ममार पति तालाब निर्माण में मस्टर  क्रमांक 84455  व 89963  से आठ दिनों की मजदूरी एवं अगूठा लगाकर राशी का गवन किया गया है.
२ शुभकरण सिंह के कूप निर्माण में बारह लोगो केनाम से पोस्ट आफिस द्वारा फर्जी भुगतान किया गया है.
३ सचिव द्वारा अपनी पत्नी मीना बाई के नाम से बाईस  दिनों की फर्जी हाजिरी भरकर राशी का गबन किया गया है.
४ भगवान् दास व राघवेन्द्र सिंह को उपसरपंच पद पर होते हुए बिना घर बनाए आवास योजना की सम्पूर्ण राशी  प्रदान की गई.
५ आवास हीन सूची के पात्र लोगो को छोड़कर सुविधासंपन्न व्यक्तियों हुकुम सिंह,खूब चन्द्र, नन्हे  सिंह, बबलू को फर्जी रिपोर्ट लगाकर लाभ दिया जो  अनुचित  है.
६ ग्राम में गठित स्वच्छता समूह के पुराने सभी  सदस्यों  को हटाकर अपने ख़ास मित्र की पत्नी सीता रानी के नाम से फर्जी प्रस्ताव तैयार कर  बैंक में खता खोला गया और लाखो रूपये की राशी का गबन किया गया है.
७ डरे राम, दशरथ दोनों व्यक्तियों के नाम गरीबी रेखा में न होते हुए एवं पक्के  मकान होते हुए भी लाभ दिया गया


संदर्भित आवेदन के परिपालन में जनपद सी ई ओ रीठी ने अपने पत्र  क्रमांक १३२ /ज सु/ ज पण/ ११-१२ रीठी दिनांक ०७/०६/११ में कलेक्टर कटनी को लिखा रीठी  में पदस्थ पंचायत समन्वय अधिकारी प्रकाश बक्शी से जाँच  कराई गई जिसमे ग्राम पंचायत बरहटा  के सचिव बिहारी लाल विश्वकर्मा द्वारा मस्टर  रोल में काट-छाट एवं अनियमितता किया जाना तथा मनमाना प्रस्ताव डालकर आवास निर्माण एवं समग्र स्वच्छता अंतर्गत अनियमितता एवं भ्रष्टाचार किया जाना पाया गया है. अतः इनके विरुद्ध मध्य प्रदेश पंचायत राज अधिनियम १९९३ ली दज्र ६९ (1) के अधीन सचिवीय अधिसूचना समाप्त करने की कार्रवाई की जाना उचित होगा.


इधर अपने बचाव में लगे सचिव बिहारी के द्वारा फर्जी रूप से एक मस्टर  भी तैयार कर लिया गया जिसे  म  न रे गा ऐ पी ओ वर्षा जैन ने सर्टिफाइड करके दिया है. कमाल  की बात यह है की शुभकरण/हरदेओ के कूप में जिन बारह लोगो के नाम से राशी का आहरण फर्जी रूप से किया गया है उसकी जानकारी देने में जनपद के कर्मचारी पहले आना कानी करते रहे और बाद में जो मस्टर  दिया वह भी फर्जी तैयार किया गया है मस्टर बनाते समय उसमे मेट, सरपंच के हस्ताक्षर होते है तभी उपयंत्री मूल्यांकन करता है. लेकिन इस मस्टर क्रमांक १४९२६२ में १५/०१/०९ से २१/०१/०९ तक जिन बारह मजदूरों को काम करते दिखाया गया है यह मस्टर शुभकरण  के कूप निर्माण में प्रयोग ही नहीं किया गया. जो मस्टर म न रे गा की साईट  पर  है वे इस प्रकार है - (442734,442735,4485671,4485677,4487825,4487826,146228,146959,146960,146968,44145350,)


Work Code*

State : मध्य प्रदेश
Work Name : Panchayat:BROHATA
Block : rithi District : KATNI
Date From : 22/01/2008 Date To : 19/10/2011
(Muster Roll No.):
11 (442734,442735,4485671,4485677,4487825,4487826,146228,146959,146960,146968,44145350,)

ऐसे में म न रे गा में रीठी जनपद  की ऐ पी ओ वर्षा जैन की कार्य  प्रडाली   पर भी प्रश्न चिन्ह लगता है. विगत वर्षो में  ग्रामीण  रोजगार  सहायक  की  भर्ती  में पूर्व  सी ई  ओ सुरेश झरिया   के साथ मिलकर किये गए खेल की पोल तो बाद में खुली  जब दो ने स्तीफा दिया और तीसरा मामला  कोर्ट  में है  इसमें ऐसी  भी नियुक्ति की गई है जिसमे मार्क शीट में तीस में से चालीस अंक मिले  है  और इन नियुक्ति कर्ताओ को यह सब नजर नहीं आया था.


यह तो भ्रष्टाचार की एक बानगी है ऐसा रीठी जनपद की 56  ग्राम पंचायतो में धड़ल्ले   से हो रहा है  जिसमे नाबालिग, मृत तथा नौकरीपेशा लोगो के नाम से फर्जी रूप से राशी का आहरण कर लिया गया है. इस
फर्जीवाडे में पोस्ट आफिस, बेंक के कर्मचारी भी सभी शामिल है. और शिकायत  करने पर कोई कार्रवाही न होना भी गरीब जनता  को निराश करता है वास्तव में उनका तो हक़ मारा जा रहा  है 


ऐसे में कटनी जिले में न्याय की आशा करना ही व्यर्थ है.




महिला यात्री का ट्राली बैग लेकर भाग रहा चोर पकड़ाया
बेतवा ए सप्रेस की एस-8 बोगी में घटना, दो फरार 


कटनी, दुर्ग से कानपुर के बीच कटनी होकर चलने वाली बेतवा ए सप्रेस की एस-8 यात्री बोगी में सफर
के दौरान एक महिला यात्री का बैग चोरी कर भाग रहे तीन में से एक बदमाश को रेल पुलिस ने घटना के कुछ देर बाद ही पकड़ लिया जबकि दो बदमाश पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गए। पकड़े गए बदमाश के पास से ट्राली बैग भी बरामद कर लिया गया है। जिसमें एक हजार रूपए नगद सहित जेवर व कपड़े रखे थे। इस संबंध में हासिल जानकारी के मुताबिक सतना के सिविल लाइन क्षेत्र निवासी साधना गौतम नामक महिला दुर्ग से कानपुर के बीच कटनी होकर चलने वाली बेतवा ए सप्रेस की एस-8 यात्री बोगी में दुर्ग से  सतना की यात्रा कर रही थी। बताया जाता है की ट्रेन में सफर के दौरान तथा ट्रेन के कटनी पहुंचने के पूर्व तीन अज्ञात बदमाश साधना गौतम की गहरी नींद का फायदा उठाकर बर्थ के नीचे रखा ट्राली बैग लेकर भागने लगे लेकिन इसकी बीच साधना की नींद खुल गई और उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसी बीच ट्रेन कटनी स्टेशन पहुंच गई तो तीनों बदमाश ट्राली बैग ट्रेन से उतरकर फुट ओव्हर ब्रिज की ओर भागे। जिनका पीछा करके जीआरपी के जवानों ने ट्राली बैग लेकर भाग रहे बदमाश को पकड़ लिया जबकि उसके दो साथी भागने में कामयाब रहे। थाने लाकर पूछताछ करने पर पकड़े गए युवक ने बताया की वह मिशन चौक क्षेत्र में रहने वाला 20 वर्षीय प्रीतम बर्मन है तथा उसके दोनों साथी आपस में सगे भाई बंटी व पवन बर्मन हैं तथा तीनों मिलकर ट्रेनों में सफर के दौरान यात्रियों का सामान चोरी करने का काम करते हैं। रेल पुलिस के मुताबिक महिला यात्री के बैग में एक हजार रूपए सहित कुछ जेवर व
कपड़े रखे थे, जो सुरक्षित हैं। रेल पुलिस पकड़ गए बदमाश से पूछताछ करते हुए उसके साथियों तक पहुंचने का
प्रयास कर रही है। जिसके कारण ट्रेनों में चोरी की कई वारदातों से पर्दा उठ सकता है।


तीन दिनों में सुराग नहीं तो काम बंद कर देंगे इंजीनियर 
ढीमरखेड़ा जनपद पंचायत उपयंत्री के अपहरण का मामला


कटनी, जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा के उपयंत्री लक्ष्मीप्रकाश पटेल को लापता हुए पांच दिन से ज्यादा का समय बीत चुका है लेकिन पुलिस को उसका अब तक कोई सुराग नहीं लगा है। जिसको लेकर जिले के इंजीनियरों में आक्रोश व्याप्त हो गया है। म.प्र. डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन की इस मालमे को लेकर एक बैठक आयोजित हुई। जिसमें पुलिस प्रशासन से शीघ्र लापता उपयंत्री लक्ष्मीप्रकाश पटेल का पता लगाने के मुद्दे पर चर्चा उपरांत एक राय से निर्णय लिया गया कि आगामी तीन दिनों में यदि श्री पटेल की पतासाजी नहीं चली तो सभी उपयंत्री अपना काम बंद कर देगे। तत्पश्चात जिलाध्यक्ष आर.के.कास्तवार, प्रचार सचिव अनिल चौबे, स चिव आर.के.बत्रा के नेतृत्व में सैकड़ा उपयंत्रियों ने कले टर एम. सेलवेन्दन, पुलिस अधीक्षक मनोज शर्मा व सीईओ जिला पंचायत को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि 3 दिवस के अंदर साथी उपयंत्री की खोज कर वास्तविकता से अवगत कराते हुए कार्यवाही की जाए। अन्यथा सभी उपयंत्री एवं मैदानी कर्मचारी मजबूर होकर कार्य बंद कर हड़ताल  पर जाने बाध्य होगे 

74 ग्राम पंचायतों को मिले 2 करोड़ 64 लाख


74 ग्राम पंचायतों को मिले 2 करोड़ 64 लाख


कटनी। कले टर एम. सेलवेन्द्रन ने जॉबकार्ड परिवारों को रोजगार उपल ध
कराने के लिये को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना के अंतर्गत
जनपद पंचायत कटनी की १२ ग्राम पंचायतो को ४६ लाख रूपये, जनपद
पंचायत रीठी की १९ ग्राम पंचायतों को ६४ लाख रूपये, जनपद पंचायत बड़वारा
की १० ग्राम पंचायतों को २६ लाख रूपये, जनपद पंचायत बहोरीबंद की १९
ग्राम पंचायतों को ६८ लाख रूपये एवं जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा की १४ ग्राम
पंचायतों को ६० लाख रूपये की राशि स्वीकृत की है। जिला पंचायत के मु य
कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि जनपद पंचायत कटनी की ग्राम पंचायत
घंघरीकला को ४ लाख, ग्राम पंचायत पडुवा को ४ लाख, ग्राम पंचायत
देवरीटोला को ४ लाख, ग्राम पंचायत गैतरा को ४ लाख, ग्राम पंचायत पिलौंजी
को ४ लाख, ग्राम पंचायत डिठवारा को ४ लाख, ग्राम पंचायत खरखरी को ४
लाख, ग्राम पंचायत पहाड़ी को २ लाख, ग्राम पंचायत गुबराधरी को ४ लाख,
ग्राम पंचायत टेढी को ४ लाख, ग्राम पंचायत सलैया को ४ लाख एवं ग्राम पंचायत
छहरी को ४ लाख रूपये की राशि आंबटित की गई। जनपद पंचायत रीठी की
ग्राम पंचायत तिलगवां को २ लाख, ग्राम पंचायत बांधा को ४ लाख, ग्राम
पंचायत कु हरवारा को ४ लाख, ग्राम पंचायत बिलहरी को २ लाख, ग्राम पंचायत
कैमोरी को २ लाख, ग्राम पंचायत घुघरा को ४ लाख, ग्राम पंचायत घुडहर को
२ लाख, ग्राम पंचायत ख हरिया नं.२ को २ लाख, ग्राम पंचायत रूडमूड को ४
लाख, ग्राम पंचायत बडगॉव को ४ लाख, ग्राम पंचायत धनिया  को ८ लाख,
ग्राम पंचायत मुहास को  २ लाख, ग्राम पंचायत सिमडारी  को ६ लाख, ग्राम
पंचायत देवराकला  को ४ लाख, ग्राम पंचायत जमुनिया  को ३ लाख, ग्राम
पंचायत ख हरिया नं.१  को ४ लाख, ग्राम पंचायत बिरूहली  को ४ लाख, ग्राम
पंचायत सुगवां  को २ लाख, ग्राम पंचायत बकलेहटा  को १ लाख, रूपये की
राशि आंबटित की गई। 


जनपद पंचायत बड़वारा 
जनपद पंचायत बड़वारा की ग्राम पंचायत करेला को ४ लाख, ग्राम पंचायत पठरा
को ४ लाख, ग्राम पंचायत झरेला को २ लाख, ग्राम पंचायत बिजौरी को ४ लाख,
ग्राम पंचायत कछारी को २ लाख, ग्राम पंचायत सलैया ठुठिया को २ लाख, ग्राम
पंचायत पथवारी को २ लाख, ग्राम पंचायत सिरौंजा गडरिया को २ लाख, ग्राम
पंचायत कुआ को २ लाख, ग्राम पंचायत सलैया सिहोरा को २ लाख रूपये की
राशि आंबटित की गई।


जनपद पंचायत बहोरीबंद 
जनपद पंचायत बहोरीबंद की ग्राम पंचायत बंधीधूरी को ४ लाख, ग्राम पंचायत
धूरी को २ लाख, ग्राम पंचायत पहरूआ को २ लाख, ग्राम पंचायत लखनवारा
को २ लाख, ग्राम पंचायत सिंहुड़ी बाकल को २ लाख, ग्राम पंचायत पिपरिया
बाकल को २ लाख, ग्राम पंचायत बाकल को ४ लाख, ग्राम पंचायत बासन को
४ लाख, ग्राम पंचायत कूडा मर्दानगढ को २ लाख, ग्राम पंचायत चांदनखेडा
को २ लाख, ग्राम पंचायत बरही को ८ लाख, ग्राम पंचायत बरतरा को ४ लाख,
ग्राम पंचायत रामपाटन को ४ लाख, ग्राम पंचायत डिहुटा को ४ लाख, ग्राम
पंचायत अमगंवा को ४ लाख, ग्राम पंचायत पथराडी पिपरिया को ४ लाख, ग्राम
पंचायत अमरगढ़ को ४ लाख, ग्राम पंचायत ककरेहटा को ८ लाख, ग्राम पंचायत
सोमाकला को २ लाख रूपये की राशि आंबटित की गई।


जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा 
जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा की ग्राम पंचायत घुघरा को ४ लाख, ग्राम पंचायत
देवरीपाठक को ४ लाख, ग्राम पंचायत टोला को ४ लाख, ग्राम पंचायत बरेलीबार
को ४ लाख, ग्राम पंचायत अतरिया को ६ लाख, ग्राम पंचायत देवरीमारवारी को
४ लाख, ग्राम पंचायत महगंवा दैगवां को ४ लाख, ग्राम पंचायत देवरी बिछिया
को ४ लाख, ग्राम पंचायत सिमरिया को २ लाख, ग्राम पंचायत इमलिया को ४
लाख, ग्राम पंचायत भूला को ६ लाख, ग्राम पंचायत पड़रभटा को ४ लाख, ग्राम
पंचायत पौनिया को ४ लाख, ग्राम पंचायत महगवां (बडखेरा) को   २ लाख,
ग्राम पंचायत परसेल को २ लाख, ग्राम पंचायत महनेर को २ लाख रूपये की
राशि आंबटित की गई।

आठवीं तक के बच्चों को सजा से मुक्ति


आठवीं तक के बच्चों को सजा से मुक्ति 
शिकायत मिली तो शिक्षक पर होगी कार्रवाई 

 स्कूल चाहे सरकारी हो या फिर प्राईवेट, कक्षा आठवी तक के बच्चों को अब सजा नहीं दी जाएगी।
राज्य शिक्षा केन्द्र के नए आदेशों से शिक्षक बच्चों को शारीरिक दंड नहीं दे सकेंगे। यदि फिर भी ऐसा होता है तो शिक्षक पर तो कार्रवाई होगी ही प्राईवेट स्कूलों की मान्यता खतरे में पड़ सकती है, साथ ही स्कूल यदि सरकारी हुआ तो उस स्कूल के प्राचार्य को भी लेने के देने पड़ सकते हैं।  दरअसल नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद कक्षा आठवी तक के बच्चों को शारीरिक दंड दिए जाने पर स ती से रोक लगाई गई है।


निर्देशों के बावजूद प्रदेश के कई जिलों से इस तरह की शिकायतें सामने आने के बाद राज्य शिक्षा केन्द्र ने कड़ी नाराजगी जताई है और जिला शिक्षा अधिकारियों को इन घटनाओं पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं, हालांकि पिछले कुछ समय के दौरान कटनी जिले में तो इस तरह की कोई घटना सामने नहीं आई है, फिर भी निर्देश
जारी करने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी को इन घटनाओं पर न केवल पैनी निगाह रखी होगी व रन संबंधित अमले को इन घटनाओं पर रोक लगाने के लिए भी निर्देश जारी करना होगा। स्कूलों में शिक्षकों द्वारा छात्रों से अभद्र व्यवहार और मारपीट के रूप में कड़ी सजा दिए जाने की घटनाएं जब- तब सामने आती रहती है। इसमे कईयों बार बड़ी घटनाएं भी प्रकाश में आ चुकी है। हालांकि अब पहले जैसा समय भी नहीं रहा। पहले होमवर्क नहीं करके लाने पर छात्र को शिक्षक की डांट के लिए तैयार रहना पड़ता था और कभी-  कभी सजा भी मिलती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा। खासकर  कक्षा आठवी तक के बच्चों को शिक्षक शारीरिक दंड नहीं दे सकेंगे। 


आयु त ने जताई नाराजगी
यह व्यवस्था लागू होने के बाद भी कई जिलों के स्कूलों में शारीरिक दंड दिए जाने की शिकायतें राज्य शिक्षा केन्द्र को मिल रही थी। इसमें कुछ निजी स्कूलों के नाम भी शामिल थे। इस पर राज्य शिक्षा केन्द के आयुक्त मनोज झालानी ने कड़ी नाराजगी जताई।  प्राचार्य भी होंगे जि मेदार  आयु त ने कहा कि किसी भी सूरत में शारीरिक दंड की घटनाओं को नजरंदाज न किया जाए। किसी भी स्कूल में यदि ऐसी शिकायत पाई जाती है, तो संबंधित शिक्षक  पर कार्रवाई करने के साथ स्कूल के खिलाफ भी ए शन लिया जाए। इसमें सरकारी स्कूल में शिक्षक के साथ  प्राचार्य को भी ऐसी घटना के लिए जि मेदार माना जाएगा और शिक्षक और प्राचार्य दोनों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। 


मान्यता भी खतरे में 
निजी, सीबीएसई व अनुदान प्राप्त स्कूलों में यदि इस तरह घटनाएं सामने आती है तो शिक्षक व शाला प्रमुख
पर कार्रवाई के अलावा स्कूल की मान्यता पर भी गाज गिरेगी। आयुक्त ने निर्देश दिए हैं कि जिन स्कूलों के बारे
में ऐसी शिकायतें मिली हैं, वहां पर इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति  न हो। 



अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम के कारण लगी रोक 
केन्द्र सरकार द्वारा पिछले साल अनिवार्य व मु त शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू किया गया था। अधिनियम के कारण इस साल से शारीरिक दंड पर पूर्णत: रोक के आदेश जारी किए गए थे। अब उक्त अधिनियम के तहत आठवीं तक के बच्चों को किसी भी प्रकार से शारीरिक दंड नहीं दिया जा सकता। 

दो अखबारों के दफ्तरों में धावा

कटनी, कोतवाली के बरही रोड क्षेत्र स्थित प्रेमनारायण समाज भवन के समीप स्थित दो अखबारों के द तरों में धावा बोलकर अज्ञात चोरों ने एक मोबाइल फोन व चार हजार रूपए नगद पार कर दिए। पुलिस ने अज्ञात चोरों के विरूद्व मामला दर्ज करते हुए उनकी तलाश शुरू कर दी है। इस संबंध में  सिल जानकारी के मुताबिक प्रेमनारायण समाज भवन के समीपस्थित दैनिक नई दुनिया व दैनिक जागरण कार्यालय में अज्ञात चोरों ने गत 17-18 अ टूबर की दर यानीरात धावा  बोला और दोनों द तरों का ताला
तोड़कर एक मोबाइल फोन सहित ४ हजार रूपए लेकर चंपत हो गए। पुलिस ने सत्यदेव चतुर्वेदी व प्रेम सिंह की शिकायत पर अज्ञात चोरों के विरूद्व धारा 457, 380 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।कटनी, यभाप्र। कोतवाली के बरही रोड क्षेत्र स्थित प्रेमनारायण समाज भवन के समीप स्थित दो  खबारों के द तरों में धावा बोलकर अज्ञात चोरों ने एक मोबाइल फोन व चार हजार रूपए नगद  पार कर दिए। पुलिस ने अज्ञात चोरों के विरूद्व मामला दर्ज करते हुए उनकी तलाश शुरू कर दी है। इस संबंध में
हासिल जानकारी के मुताबिक प्रेमनारायण समाज भवन के समीप स्थित दैनिक नई दुनिया व दैनिक
जागरण कार्यालय में अज्ञात चोरों ने गत  17-18 अ टूबर की दर यानीरात धावा बोला और दोनों द तरों का ताला तोड़कर एक मोबाइल फोन सहित ४ हजार रूपए लेकर चंपत हो गए। पुलिस ने सत्यदेव चतुर्वेदी व प्रेम सिंह की शिकायत पर अज्ञात चोरों के विरूद्व धारा 457, 380 के तहत मामला दर्ज
कर लिया है।