06 January, 2012

योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं

नए कले टर अशोक कुमार सिंह ने साफ कर दिया है कि योजनाओं के क्रियान्वयन के मामले में वे किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेंगे। खासकर परिवार कल्याण कार्यक्रम में दिया गया लक्ष्य किसी भी हाल में पूरा होना चाहिए। मु यालय
से गायब रहने वाले अधिकारियों को हिदायत देते हुए कले टर श्री सिंह ने कहा कि अधिकारी अब अवकाश पर जाने या मु यालय छोडऩे के पहले उनसे अनुमति लें। इसके लिए लिखित या दूरभाष पर संपर्क किया जा सकता है। मंगलवार को कटनी जिले का प्रभार ग्रहण करने के बाद नवागत कले टर अशोक कुमार सिंह कले ट्रेट सभागार में अधिकारियों के साथ पहली बैठक ले रहे थे। बैठक में कले टर श्री सिंह ने दो टूक कहा कि शासन की योजनाओं व कार्यक्रमों की समीक्षा अब विभागीय समूहवार की जावेगी। इसके लिए ग्रुप बनाये जाएंगे और एक-एक ग्रुप में चार-पांच विभाग रहेंगे। जिससे योजनाओं का क्रियान्वयन सुचारू रूप से हो सके। बैठक में कले टर ने अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया और चर्चा की। उन्होंने बीज निगम से बीज वितरण, कृषि विभाग से रबी फसलों की बुआई व स्थिति तथा विपणन संघ से फर्टीलाइजर खाद वितरण की जानकारी ली। बीज निगम प्रबंधक श्री पाण्डे ने बताया कि जिले में किसानों को रबी की फसलों का बीज उपल ध करा दिया गया है। उप संचालक कृषि ए. के. नागल ने बताया कि जिले में रबी मौसम की फसलों में गेहूॅ, चना, व अन्य फसलें बोई गई हैं। वर्तमान में फसलों की स्थिति ठीक है। जिला विपणन संघ अधिकारी एम. एल. रजक ने बताया कि किसानों को यूरिया खाद का वितरण किया जा रहा है। बैठक में कले टर ने कहा कि सेवानिवृ ा होने वाले कर्मचारियों के सारे स्वत्वों का भुगतान उसी दिन हो जाना चाहिए। केवल न्यायालयीन प्रकरण को छोड़कर, जो विभाग सेवानिवृ िा के दिन
अधिकारियों, कर्मचारी के स्वत्वों को प्रद ा नहीं करेंगे, ऐसे विभाग के प्रति नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने विभाग प्रमुखों को आगाह किया कि वे स्थापना शाखा लिपिक से इस संबंध में जानकारी अवश्य लेते रहें। यदि किसी कर्मचारी का प्रकरण न्यायालयीन भी है, तो मेरे समक्ष प्रस्तुत करें, ताकि माननीय न्यायालय के आदेशों का पालन करते
हुए कार्यवाही की जा सकें। बैठक में एस. डी. एम.तेजस्वी एस. नायक, डिप्टी कले टर ओ. पी. सनोडिया सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
स्वास्थ्य विभाग पर टेढ़ी नजर
कले टर श्री सिंह ने सीएमओ से कहा कि परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत हर हाल में लक्ष्य की पूर्ति की जावे। सीएमओ डॉ. जी.सी.चौरसिया ने बताया कि जिले को 12 हजार 900 हितग्राहियों की नसंबन्दी आपरेशन करने का लक्ष्य दिया गया है।
जिसके विरूद्ध अभी तक 54.5 प्रतिशत उपल िध हासिल कर ली गई है। जिस पर कले टर ने नाराजगी भी जताई। बैठक में सिविल सर्जन के. के. जैन ने बताया कि जिले में स्वास्थ विभाग का अमला स्वीकृत पदों की अपेक्षाकृत कम हैं। जिस
पर कले टर ने सभी विभाग प्रमुखों से अपने-अपने विभागों में कितने अधिकारी, कर्मचारी की कमी है, इसकी जानकारी तत्काल प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। जिससे शासन से विभागीय कार्यान्वयन हेतु अमले की मांग जा सके।
बताओ यों नहीं लगा ट्रांसफार्मर मत्स्य विभाग के सहायक संचालक ए. के. सिंह ने बताया कि सुरखी ग्राम में मत्स्य प्रक्षेत्र हेतु ट्रांसफार्मर लगाया जाना है। विद्युत विभाग में वर्ष 2009 में ट्रांसफार्मर लगाने के लिए राशि जमा कर दी गई हैं
लेकिन अब तक ट्रांसफार्मर नहीं लगा। जिस पर कले टर ने विद्युत विभाग सहायक यंत्री से कहा कि दो वर्ष बीतने के बाद भी ट्रांसफार्मर यों ही लगा। पूरा विवरण मेरे समक्ष प्रस्तुत करें, ताकि इस कार्य में आ रही बधाओं को दूर किया जा सके।

सचिव से नहीं लें काम
बैठक में कले टर श्री सिंह ने सामाजिक आर्थिक संगणना में प्रशिक्षण, क प्यूटरआपरेटर और गणना में लगाये जाने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य में ग्राम पंचायत सचिव को नही लगाया जाए।
जिला पंचायत के मु य कार्यपालन अधिकारी जेड. यू. शेख ने बताया कि यह प्रशिक्षण दो फरवरी से आयोजित किया जायेगा। कले टर ने हाउसिंग बोर्ड से आवास, जल संसाधन से तालाब निर्माण एवं लोक निर्माण विभाग से पेंच वर्क कार्य की जानकारी भी प्राप्त ली। विद्युत विभाग से अस्थायी कने शन का विवरण लिया। सहायक यंत्री ने बताया कि इस वर्ष 17 हजार अस्थायी विद्युत कने शन दिये गये है। वन विभाग के एस.डी.ओ. ने बताया कि जिले में 33 प्रतिशत वन क्षेत्र है। जिले में तेन्दूप ाा, महुआ, कुल्लू, गोद तथा अन्य लघु वनोपज अर्जित होती हैं।

अलग से होगी कृषि मंडी समिति की समीक्षा
कले टर अशोक सिंह ने कहा कि कृषि उपज मंडी समिति की अलग से समीक्षा होगी। इस हेतु मण्डी में किसानों को मिलने वाली सुविधाओं, व्यवस्थाओं तथा मण्डी शुल्क आदि का जायजा लिया जायेगा। कले टर ने जिले में चल रहे बरगी
दायी तट नहर कार्य की भी जानकारी ली। नर्मदा घाटी बरगी परियोजना कार्यपालन यंत्री कैलाश चौबे ने बताया कि जिले में 50 किलो मीटर नहर कार्य स्वीकृत है। इसमें 38 किलोमीटर ओपनकट नहर और 12 किलामीटर सुरंग नहर का कार्य
किया जा रहा है। वर्तमान में सुरंग नहर कार्य उच्च तकनीक मशीनीकरण से जारी है। अभी तक यह कार्य 3 प्रतिशत हुआ है। यह कार्य वर्ष 2013 तक पूर्ण किया jaayega