28 April, 2012

आग लगी या लगाई गई

आज सुबह से ही रीठी सहकारी समिति में गेहू खरीदी के लिए रखे गेहू के ढेर में आग लगने की बात सारे नगर में चर्चा का विषय रही. इस सम्बन्ध में जब मौके पर देखा गया तो कुछ बोरे मामूली रूप से जले पाए गए जबकि समिति में खरीद कर रहे कर्मचारियों ने यह बात फैलाई की हजारो क्विंटल माल जलकर खाक हो गया. उस वक्त की तस्वीरे भी यही सब बता रही है. असल में धान और गेहू खरीदी में जमकर खेल होता है. इसमें किसानो के नाम पर बड़े व्यापारी समिति के कर्मचारियों से मिलकर जमकर खेल कर रहे है. यदि उनसे रोज का स्टोक रजिस्टर व आवक जावक का रजिस्टर मागा जाता है तो वह भी मौके पर नहीं दिखाया जाता है.
इस सम्बन्ध में आज लगी आग के बारे में लोगो का कहना है की पल्लेदार रात में यहाँ दारू पीते है और उन्हीमे से किसीने या तो आग लगाई है या फिर बीडी से यह आग लगी है इसके पीछे यह बात भी चर्चा मै है की तस्वीर में दिख रहा गेहू ही अभी तक खरीदा गया है और आग लगने का दिखावा करके बड़ा खले खेल खेलने की चल नजर आ रही है. क्योकि मौके पर आग बुझाने पहुचे लोगो में से रीठी के वे बड़े व्यापारी नजर आ रहे थे जो अब तक इस खेल में दलाली करके अपना माल बेचते रहे है लोगो का इस प्रशासन से इस आग के खेल के पीछे के खेल से पर्दा उठाने के लिए प्रशासन से निवेदन है