21 February, 2012

कोल माफिया क्या प्रजातंत्र से ज्यादा शक्तिशाली हो गया है...?

कोल माफिया के खिलाफ अपनी लेखनी का प्रभावशाली उपयोग करने वाले उमरिया जिले के पत्रकार चन्द्रिका राय की सपरिवार हत्या करने वाला माफिया क्या प्रजातंत्र से ज्यादा शक्तिशाली हो गया है ? चार लोगो की न्रशंस हत्या करने के बाद उसे बेपर्दा कर पाना शासन व पुलिस तंत्र के लिए पिछले 48 घंटो से चुनौती बना हुआ है ... ? उक्त यक्ष प्रश्न सहित कटनी प्रेस क्लब ने गत सोमवार को महामहिम राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन एस पी मनोज शर्मा के माध्यम से सौपा. प्रेस कलब ने ज्ञापन में कहा है की इस न्रशंस घटना से पत्रकारों में आक्रोश व्याप्त है. हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी करने, पत्रकारों की सुरक्षा करने तथा पूरे घटना क्रम की जाँच सी बी आई से कराने की मांग प्रेस क्लब ने की. प्रेस क्लब के गोपाल सिंघानिया, सत्यदेव चतुर्वेदी, संदीप परोहा, अमर ताम्रकार, संजीव वर्मा, प्रेम सिंह, अखिलेश उपाध्याय, लीलाधर जाटव, प्रभाकर सोमवंशी, जितेन्द्र द्विवेदी, संतोष दुबे, अरविन्द गुप्ता, सुजीत तिवारी, सहित अन्य पत्रकार उपस्थित थे. अवैध कोल डंपिंग ले चुकी है तीन युवको की जान पत्रकारों के प्रतिनिधि मंडल ने इस अवसर पर एस पी का ध्यानाक्रष्ट कराया की नेशनल हाईवे पर जोर-शोर से ट्रको से कोयला उतारने का काम माफिया कर रहा है. इसी डंप पर तीन दिन पूर्व विधायक संजय पाठक की झड़प भी हो चुकी है. सनद हो की जुहला बाईपास सुर्खी मोड़ पर कोयला की अवैध डंपिंग के दौरान छः वर्ष पहले गुड्डा यादव नमक युवक की हत्या हो चुकी है. कोल माफिया के लिए काम करने वाले एक गर्ग युवक को तथा मनोज त्रिपाठी को मौत के घाट उतारा जा चुका है. पुलिस यदि इन पर शिकंजा नहीं कसेगी तो फिर कोई बेरोजगार नवयुवक माफिया के झांसे में अपनी जान गवाएगा. अवैध उत्खनन में भी इसी तरह का क़त्ल हो चूका है. पांच वर्ष पूर्व ही कुठला मोड़ पर कोल माफिया ने लूट हत्या की थी. कोल माफिया के खिलाफ बोलने पर विधायक राजू पोद्दार को भी क़त्ल किये जाने की धमकी पूर्व में मिल चुकी है. इस पर एस पी ने आश्वस्त किया की इस सम्बन्ध में कार्रवाई की जायेगी. आज मौन जुलूस इस न्रशंस हत्याकांड के खिलाफ पत्रकार जगत आज 21 फरवरी को बैठक कर मौन जुलूस निकालेगा एवं कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौपेगा. श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष सुरेन्द्र राजपूत, संभागीय महासचिव शैलेश पाठक, जिला पत्रकार संघ के अध्यक्ष लालजी शर्मा, महासचिव आशीस सोनी, प्रेस क्लब के अध्यक्ष अमर ताम्रकर, श्रमीवी पत्रकार संघ के महासचिव पारस जैन ने संयुक्त रूप से इस करती की भर्त्सना की है. सभी पत्रकार संघो की एक संयुक्त बैठक 21 फरवरी मंगलवार दोपहर एक बजे रेस्ट हाउस में आहूत की गयी है. बैठक के उपतंत मौन जुलूस निकलकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन सौपा जाएगा. ज्ञापन में हत्यारों की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवार के लिए आर्थिक सहायता की मांग की जावेगी.