15 November, 2014

मै ब्लाउज़ फाड़ कर खड़ी हो जाऊगी



आर टी आई अर्थात सूचना का अधिकार अधिनियम के माध्यम से सूचना लगाना  अब इतना आसान नहीं रह गया है. अब तो धमकी दी जाती है इसमें महिलाये अपने महिला होने का फायदा उठती है जबकि यही महिलाये हमेशा पुरुष के बराबरी का अधिकार मांगती है.

हमने पिछले दिनों राष्ट्रिय माध्यमिक शिक्षा मिसन के अंतर्गत कटनी जिले में चलने वाले बालिका छात्रावासो में चल रहे भ्रष्टाचार की पोल-खोलने के उद्देश्य से आर टी आई के माध्यम से जानकारी मांगी

इस पर रमसा बालिका छात्रावास रीठी की अधीक्षिका ने प्रिंसिपल के माध्यम से वांछित रूपये जमा करा लिए और इसकी पावती  भी नहीं दी.

हफ्ते भर बाद प्रिंसिपल के सामने यह अधःक्षिका तिरिया चरित्र बताते हुए कहने लगी की एक महिला से बात करने  की तमीज नहीं है मै अभी ब्लाउस फाड़ कर तमाशा खड़ा कर दूंगी और फसा दूंगी

यह जानकारी मैंने  जिला शिक्षा अधिकारी कटनी से मांगी है ऐसे में इस वार्डन का  व्यवहार कई सवाल खड़े करता है ?

जबकि इसी बालिका छात्रावास में इसका पति भी रहता है जिसे प्रिंसिपल से लेकर सभी उच्च अधिकारी जानते है लेकिन कुछ नहीं बोलते

कारण तो आप समझ चुके होगे

अब देखो कैसे मुझे यह जानकारी मिलती है

अखिलेश उपाध्याय